May 27, 2024

Govt Yojana :- सरकार दे रही है बकरी पालन करने के लिए पैसे, जल्दी से आवेदन कर पाए 1,98,000 रुपये खाते में

Share Post

अगर आप भी पशुपालन (Animal Husbandry) से जुड़ा कोई व्यवसाय करने की सोच रहे हैं तो आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है- बकरी पालन।हां, किसानों और अशिक्षित बेरोजगारों के लिए बकरी पालन एक अच्छा व्यवसाय हो सकता है। इस समाचार लेख में हम आपको बकरी पालन व्यवसाय के बारे में बताएंगे जिस पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा सब्सिडी दी जाती है।

सरकार सब्सिडी दे रही है

बकरी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको पैसों की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा। बकरी पालन व्यवसाय के लिए आपको केंद्र सरकार द्वारा 35% की सब्सिडी मिल सकती है, इससे आपके पूरे खर्च में बड़ी मात्रा में कटौती होगी।विशेष रूप से, हरियाणा सरकार ने बकरी पालन को प्रोत्साहित करने और इस पर 90% तक सब्सिडी देने का निर्णय लिया है। इससे आपको ज्यादा फायदा हो सकता है।

इन सभी सरकारी सब्सिडी और बैंक ऋण के साथ आप बकरी पालन का व्यवसाय अधिक आसानी से शुरू कर सकते हैं और इस व्यवसाय से अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं, जो आपको गांव या कस्बे में अच्छी कमाई का अवसर प्रदान करता है।बकरी पालन से आपको कम लागत में तगड़ा मुनाफा कमाने का मौका मिलता है. बकरीद, ईद आदि जैसे विशेष अवसरों के दौरान बकरियों की मांग बढ़ जाती है, जिससे आप अधिक लाभ कमा सकते हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, 18 बकरियों (मादा) से आप औसतन 2,16,000 रुपये और मेल वर्जन से 1,98,000 रुपये कमा सकते हैं।

इससे शुरुआती लोगों को बकरी फार्म बनाने के कुछ विचारों को समझने में मदद मिलेगी। निम्नलिखित खर्चों को समझें और विकल्पों पर विचार करें:

50 बकरों की कुल कीमत: 3,75,000 रुपये

2 बकरों की कुल कीमत: 15,0 रुपये

एक यूनिट की कुल कीमत: 3,90,000 रुपये

बकरियों की खरीद: प्रारंभिक इकाई के लिए 3,75,000 रुपये की कुल लागत पर 50 बकरियों की खरीद पर ध्यान दें। इसमें 2 बकरियां भी शामिल होंगी, जिनकी कुल कीमत 15,000 रुपये होगी. इससे एक यूनिट की कुल कीमत 3,90,000 रुपये हो जाती है।

शेड का निर्माण: शेड के निर्माण की लागत लगभग 100 रुपये प्रति वर्ग फीट है।पानी और बिजली: पानी, बिजली आदि के लिए आवश्यक वार्षिक व्यय, जो यहां अनुमानित है, रुपये तक हो सकता है।चारा और भोजन की लागत: बकरियों को खिलाने की लागत प्रति वर्ष 20,000 रुपये है।बीमा: यदि आप बकरियों का बीमा कराना चाहते हैं तो लागत कुल कीमत का 5% या 19,5 रुपये होगी।

वैक्सीन और मेडिकल कास्ट: बकरियों की एक इकाई पर कुल वैक्सीन और मेडिकल कास्ट कुल मिलाकर 1,300 रुपये से लेकर 1,500 रुपये तक हो सकती है।मजदूरों को काम पर रखना: यदि आप काम करने के लिए मजदूरों को काम पर रखते हैं, तो आपको उन्हें अलग से भुगतान करना होगा, जिसकी लागत बकरी फार्म के आकार और व्यवसाय के अनुसार अलग-अलग होगी।

इन सभी खर्चों को ध्यान में रखते हुए, आप बकरी फार्म व्यवसाय शुरू करने और इससे अच्छा मुनाफा कमाने के लिए तैयार हो सकते हैं।आपको बता दें, यह बिजनेस मुनाफे के मामले में सुनहरा हो सकता है। गाँव और कस्बे में अशिक्षित और बेरोजगार ग्रामीण युवाओं के लिए यह आय का एक अच्छा स्रोत है।इसके अलावा, आप बकरी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए बैंक से लोन भी ले सकते हैं। नाबार्ड (राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक) बकरी पालन के लिए ऋण भी प्रदान करता है, जो आपको आर्थिक रूप से मदद करता है और आपके पशुधन पालन व्यवसाय को मजबूत करता है।बकरी फार्म ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में मदद करता है।

इसमें एक बकरी के लिए एक वर्ग मीटर जगह की पर्याप्तता होती है। यह फायदेमंद है क्योंकि बकरियों की कीमत अन्य जानवरों की तुलना में कम होती है। सामान्यतः एक बकरी प्रतिदिन 1-2 किलोग्राम चारा खाकर अपनी आहार संबंधीबकरियां पालने से दूध, मांस और उर्वरक जैसे कई तरह के लाभ मिलते हैं। आजकल बाजार में बकरी के दूध की अच्छी मांग है और इसके सेवन से आपके रक्त में प्लेटलेट दर बढ़ती है, जो स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। इसलिए, बकरी पालन से आपको व्यवसाय और स्वास्थ्य दोनों लाभ मिलते हैं।

 

Sarso Rate :- सरसों के भाव में आई बम्पर तेजी, एक क्लिक में जानिए सभी मंडियों के ताजा सरसों भाव, लाइव रिपोर्ट

 

 

PM Kisan Yojana :- एक छोटी सी गलती और आप सीधे पीएम किसान योजना के लाभार्थी सूची से बाहर, 14 वी क़िस्त के लाभ लेने के लिए ये करे काम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *