May 22, 2024

किसानों को ग्रीष्मकालीन सीजन में मूंग की खेती करना चाहिए या नहीं ?

Share Post

भारत के अधिकांश क्षेत्रों मे गेहु की कटाई होना शुरू हो गयी। ऐसे मे किसानो के लिए अगले मोसम की फसल की खेती करने का सही समय हे। आज इस लेख मे हम आपको बताएगे की गर्मी मे मूंग की खेती करना चाहिए या नही जानने के लिए आपको हमारा लेख पूरा पढ़ना पड़ेगा जिसमे हमने मूंग की खेती करने से जुड़ी समस्त जानकारी साझा हे ।

मूंग एक दलहन फसल है जिसमे कम मेहनत ओर कम पानी के आवश्यकता होती हे जिससे इसकी खेती करना बहुत ही आसान हो जाता हे। मूंग की फसल जमीन में नाइट्रोजन की मात्रा को बढ़ाती है, जिससे मिट्टी की ऊर्वा सकती एव जमीन उपजाऊ हो जाती हे । मूंग की कटाई 50-60 दिनों के भीतर की जा सकती हे ओर इस फसल के साथ अन्य फसले भी उगाई जा सकती हे ।

मूंग की खेती मे कम पानी की जरूरत पड़ती हे जिसके कारण इसकी खेती कोन सी भी मिट्टी मे सरलतापूर्वक की जा सकती हे, अगर आप भी किसान हे ओर मूंग की खेती करने की सोच रहे हे तो आज हम आपको इस लेख मे ब्तएगे के मूंग की खेती करना चाहिए या नही ।

ग्रीष्मकालीन मूंग की खेती

भारत के कई राज्यो मे मूंग की खेती की जाती हे क्यूकी यह एक लोकप्रिए द्ल्हन फसल हे इसका उत्पादन भारी मात्रा मे होता हे । इसका इस्तेमाल पापड़, दाल, नमकीन और अन्य स्वादिष्ट व्यंजन बनाने में किया जाता है। आमतौर पर मूंग की खेती आलू, सरसों, अलसी जैसे फसल की कटाई के बाद जब खेत खाली पड़ा होता हे तब इस फसल की खेती की जाती हे ।

मूंग की खेती मुख्य रूप से भारत के इन राज्यो मे पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड अधिक होती हे। मूंग की खेती कुछ अन्य फसलों के साथ भी की जाती हे इसकी खेती गर्मी मे आधिक की जाती हे ।
किशान भाई इसकी खेती कर के अच्छा पेसा कमाते हे , क्यूकी मूंग की दाल बहुत ही जादा कीमत पर बिकती हे ।

गर्मी में मुंग की खेती करने के लाभ

1॰ गर्मी में मूंग की खेती करने से परती पड़ी जमीन पर कम मेहनत में कुछ फसल उग जाती है।

2. गर्मी में मूंग की खेती में पानी की जरुरत कम लगती है और केवल थोड़े देखरेख से काम हो जाता है।

3. मूंग की खेती करने से जमीन में नाइट्रोजन की मात्रा बढ़ती है और जमीन उपजाऊ बनती है।

4. मूंग की खेती कुछ अन्य फसलों के साथ भी की जा सकती है जिससे किसान एक साथ दो तरह के फसल उगा सकता है।

5. ग्रीष्मकालीन मूंग हरी फसल और दाल दोनों अच्छी कीमत पर बिकते हैं।

 

 

 

यह भी पढे :-  UJJAIN MANDI BHAV :- उज्जैन मंडी भाव – दिनांक – 18 मार्च 2023

                      SATNA MANDI BHAV :- सतना मंडी भाव – दिनांक – 18 मार्च 2023

                      INDORE MANDI BHAV :- इंदौर मंडी भाव – दिनांक – 18 मार्च 2023

                      NEEMUCH MANDI BHAV :- नीमच मंडी भाव – दिनांक – 18 मार्च 2023

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *