May 22, 2024

सांझी डेयरी योजना : पशु पालन के लिए बैंक से दिया जायेगा लोन 1 अप्रेल से शुरू होगी ये योजना।

Share Post

सांझी डेयरी योजना :-

हमारे देश प्राचीन समय से ही किसान खेती के साथ साथ पशुपालन करते आ रहे हे , पशुपालन ग्रामीण क्षेत्रों में आय का एक अच्छा माध्यम है। पशुपालन करके किसान अपनी आय में बड़ोतरी करते हे। सरकार भी किसानो को पशुपालन करने के लिए प्रोत्साहित करती हे और उनके लिए अनेक योजनाए निर्मित करती हे जनका लाभ किसान भाई उठा सके। इस संदर्भ में हरियाणा सरकार ने पशुपालन करने वाले किसानो को एक बड़ी खुशखबरी दी हे। राज्य सरकार पशुपालको के लिए ऐसी ही एक योजना का निर्माण किया हे , जिससे राज्य के ऐसे व्यक्ति भी पशुपालन कर सकेंगे जिनके पास पशु रखने के लिए स्वयं की जगह उपलब्ध नहीं है। बता दें की हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चरखी दादरी में 39वीं हरियाणा पशुधन प्रदर्शनी-2023 के समापन के अवसर पर यह घोषणा की। इस दौरान राज्य के मुख्यमंत्री ने पशुधन प्रदर्शनी में भी शिरकत किया। साथ ही पशुओ के लिए चल रही योजनाओके बारे में समस्त किसानो को हे।

सांझी डेयरी योजना क्या है

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि साल 2023-24 के बजट में राज्य के पशुपालन करने वाले लोगों के लिए सरकार एक योजना सांझी डेयरी योजना की घोषणा की थी। अब सरकार 1 अप्रैल से इस योजना की शुरुआत करने जा रही है। इस योजना के तहत ग्राम पंचायत की जमीन पर एक शेड बनाया जाएगा, जिसमें पशुपालक, जिनके पास अपने पशु बांधने के लिए कोई जगह उपलब्ध नहीं है, वे इस कॉमन शेड में अपने पशुओं को रख सकेंगे। सहकारिता विभाग द्वारा इस कार्य का संचालन किया जाएगा।

पशु पालन के लिए बैंक से मिलेगा लोन :-

हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के माध्यम से जिन परिवारों की आय सालाना 1 लाख रुपए से कम है, उनकी आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। इस योजना का लाभ लेकर अधिकतर परिवार पशुपालन के काम में आगे आ रहे हैं, पशुपालन करने वाले व्यक्तियों की सहायता के लिए बैंकों के माध्यम से लोन दिलवाया जा रहा है। इस साल राज्य में 2 लाख परिवारों की आमदनी बढ़ाने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए पशुपालन या अन्य किसी कार्य के लिए इन 2 लाख परिवारों के लिए 2000 करोड़ रुपए की धनराशि को रिर्जव रखा गया है।

पशुओं की देखभाल :-

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पशुओं की देखभाल करने के लिए प्रदेश में 6 पॉलीक्लीनिक बनाये जाएंगे। इस योजना के तहत चरखी दादरी में भी एक पॉलीक्लिनिक बनाया जाएगा। वर्तमान में राज्य में 7 पॉलीक्लिनिक हैं। इसके अतिरिक्त, प्रदेश में गौ वंश की देखभाल करने के लिए गौ सेवा आयोग के बजट में भी सरकार ने 10 गुणा बढ़ोतरी करके 400 करोड़ रुपए का कर दिया है।

 

यह भी पढे :-

Kusum Solar Pump Subsidy : किसानों को मिलेगी सोलर पंप पर 90% सब्सिडी ऑनलाईन आवेदन शुरू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *