April 15, 2024

सभी किसान भाइयो को लेना चाहिए इन 5 कृषि योजनाओ का लाभ ।

Share Post

भारत एक कर्षि प्रधान देश हे के जायदातर लोग अपना जीवन यापन कृषि से ही करते हे . खासकर गावो में खेती और पशुपालन को प्राथमिक वयवसाय माना जाता हे।. इसी से गरीब किसानों का घर चलता है वे अपने बच्चो की पढ़ाई लिखाई इसी से करवाते हे ये उनकी जीविका का मुख्य आधार हे और देश के हर नागरिक का पेट भरता है. यही कारण हे जिसके लिए सरकार किसानो के लिए समय समय पर योजनाए निर्मित कर उन्हे लागू करती हे जिसका लाभ किशान भाई उठा सकते जिसके मध्यम से खेतती को आसान बनाया जा सके, खेती मे कम खर्चा हो ओर , फसल खराब होने की टेंशन न रहे, जरूरत के हिसाब से खाद-बीज का इंतजाम हो जाये, खेत में सिंचाई के लिये पानी समय न आये और छोटे किसानों को सम्मान के रूप में आर्थिक अनुदान (Subsidy for Agriculture) दिया जाये. जी हां, आज हम आपको इस लेख मे किसानो के लिए 5 एसी योजनाए ब्ताएगे जिनका लाभ अप सभी किसान भाई उठा सकते हे ।आपका सामी व्यर्थ न करते इस 5 योजनाए के बारे मे बात करते हे ।

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना

जिस मिट्टी मे फसल का उत्पादन हो रहा हे उस मिट्टी की उरवा सक्ति का ख्याल रखना बहुत ही जरूरी हे , क्यूकी मिट्टी हमारी माँ हे ओर इसका ख्याल रखना हमारा फ्रज हे इस चीज को ध्यान मे रखते हुए केंद्र सरकार ने साल 2015 में मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना की शुरुआत की. आज करोड़ों किसान इस योजना का लाभ ले रहे हैं. इस योजना के तहत खेत की मिट्टी के सैंपल जांच के लिये मृदा जांच लैब (Soil Test Lab) में भेजे जाते हैं, जिसके बाद लैब की तरफ से मिट्टी से जुड़ी सभी जानकारियों वाला कार्ड जारी किया जाता है, जिसे मृदा स्वास्थ्य कार्ड कहते हैं. इस कार्ड में मिट्टी की कमियां के बारे मे आपको संपुन जानकारी विस्तार पूर्वक दे दी जाती हे जिनहे पढ़कर आपके मिट्टी की जरूरत के साथ कितनी मात्रा में कौन से खाद-उर्वरक डालना है और कौन सी फसल लगानी है, जैसी कई जानकारियां (Information of Soil) मिल जाती हैं. आप इन्हे सभी जान कारियों के अनुरूप मिट्टी की उवरा सक्ति को बनाए रख सकते हो ।

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

खेती अनिश्चितताओं का क्षेत्र हे इसमे बदलते मोसम का सामना करना पड़ता हे , कभी-कभी बारिश, बाढ़, गर्मी, पाला, ओले और आर्द्रता के कारण फसलों का नुकसान हो जाता हे इसी को धन मे रखते हुए भारत सरकार ने फसल बीमा योजना का निर्माण किया जिसमे किसान अपना बीमा करवाकर अपनी फसल के नष्ट होने की चिंता से मुक्त हो जाता हे भारत सरकार किसानों को तीनों फसल चक्र यानी रबी, खरीफ और जायद तीनों सीजन में फसल का बीमा करवाने की सुविधा देते हैं. इसके लिये किसानों को बेहद कम ब्याज दरों पर (नियम और शर्तें लागू)फसल का पूरा कवरेज मिल जाता है. हालांकि ये योजना कुछ राज्यों में नहीं है, लेकिन उन राज्यों में राज्य सरकार की बीमा योजनायें (Crop Insurance Scheme) चलाई गई है. इस योजना के तहत अगर आपकी फसल मोसम के बदलते परिवतन से खराब या नष्ट हो जाती हे तो सरकार के द्वारा नष्ट हुई फ़्सलों के मालिको को मुवजा दिया जाता हे ।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

खेत मे पानी की समस्या के कारण गरीब किसान अपने खेत मे हर मोसम मे फसल नही बो पाते हे ओर कई बार पानी की समस्या के कारण उनकी फासले नष्ट हो जाती इससे किशान भाइयो को बहुत ही नुकसान होता हे , इसी समस्या को ध्यान मे रखते हुए सरकर द्वारा ने कर्षी सिचाई योजना का निर्माण किया जिसके मध्यम से गरीब किसानो के खेतो मे सरकार द्वारा 1 लाख किसानो के खेतो मे नलकूप लगये जाएगे ।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

छोटे और सीमांत किसान समय पर फसलों की बुवाई का काम कर सकें, उन्हें सिंचाई से लेकर खाद, बीज और उर्वरक खरीदने में कोई समस्या न आये. इसी उद्देश्य के साथ प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत की गई. इस योजना के तहत लाभार्थी किसानों (छोटे और सीमांत किसान) के खाते में 6000 रुपये ट्रांसफर किये जाते हैं. ये अनुदान की राशि साल में तीन बार, हर 4 महीने में तीन किश्तों में देय होती है. इस योजना के तहत किसानो को आर्थिक सह्यता मिलती हे जिससे वह अपने खेत के छोटे मोटे करी कर सकते हे ।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना

अकसर कई किसान पैसों की तंगी के कारण समय से खेती नहीं कर पाते. इसी समस्या के समाधान के लिये सरकार ने किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने की सुविधा दी है. इस योजना के तहत किसानों को बेहद कम ब्याज दरों पर 5 साल के लिये 3 लाख का शॉर्ट टर्म लोन दिया जाता हे जिसे लेकर किसान अपनी समय से खेती कर पते फिर अपनी सुविधा नुसार उस लोन को चुकाते हे इस योजना से किशान को कही जादा लाभ होता हे । हमारे लेख इन सभी योजना की जानकारी आपको इस लेख मे हमारे द्वारा साझा कर दी गई जिसे पढ़कर आप इस योजना का लाभ उठा सकते हो ।

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *