April 18, 2024

Weather Update : 2 दिन इन स्थानों पर हो सकती है बारिश, विक्षोभ सक्रिय होने से मौसम में होंगे बड़े बदलाव, यहां देखे मौसम का हालचाल

Share Post

Weather Update : मौसम विभाग के अनुसार राजस्थान नई आने वाले दिनों में दो बैक टू बैक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो सकते है अगर पहले की बात करे तो 31 जनवरी-1 फरवरी के दौरान सक्रिय होगा। इसका मुख्य प्रभाव राज्य के उत्तर-पश्चिमी व उत्तरी भागों में बारिश देखने को मिल सकती है साथ ही दूसरा पश्चिमी विक्षोभ 3-4 फरवरी को सक्रिय होगा। इसके प्रभाव से 3-4 फरवरी को बीकानेर संभाग, शेखावाटी क्षेत्र व जयपुर संभाग में बारिश और बादल की गड़गड़ाहट देखने को मिलेगी ।

 

Weather Update : बता दे की राज्य के दक्षिणी भागों में आगामी दिनों में मौसम मुख्यतः शुष्क बना रहेगा । आने वाले दो दिन राज्य के उत्तरी व पश्चिमी भागों में घना कोहरे से लोगो को परेशानी हो सकती है राजस्थान में बीती रात सिरोही और चूरू जिले मौसम बहुत ठंडा रहा । सिरोही 7.8 और चूरू में न्यूनतम तापमान 8.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बादल छाए रहने के कारण मौसम में ठंडक बढ़ी है ।

 

मौसम विभाग का अलर्ट

Weather Update : राजस्थान के जयपुर समेत कई जिलों में बीती रात पारा औसत से ज्यादा रेकॉर्ड किया गया जिसके बाद रात के तापमान में एक डिग्री गिरावट जरूर हुई लेकिन फिर भी रात में सर्दी के तेवर ढीले रहे। हनुमानगढ़ और श्रीगंगानगर जिले के कुछ इलाकों में सोमवार सुबह घना कोहरा छाए रहने पर जनजीवन प्रभावित हुआ। मौसम विभाग ने मंगलवार को प्रदेश के छह जिलों में अलवर, भरतपुर, धौलपुर, झुंझुनूं, चूरू और हनुमानगढ़ में घना कोहरा छाने की आशंका को लेकर यलो अलर्ट जारी किया है।

Read More – मध्य प्रदेश के आज के ताजा मंडी भाव 

ठंड के कारण लोगो दुबक रहे घरों में 

Weather Update : राजस्थान के पर्वतीय पर्यटन स्थल माउंट आबू इस समय बर्फीली हवाओं के कारण ठंड ने लोगो को झकझोर दिया है । जिसके बाद लोग ठंड से बचने के लिए घरों में दुबके हुए है लोग दिन के चढ़ने पर अपनी दिनचर्या को शुरू कर दे है व्यापारिक प्रतिष्ठान भी देरी से खुले।

 

Weather Update : रात में गिरने वाली ओस के कारण सुबह खुले मैदानों, वाहनों की छतों, पेड़-पौधों के पत्तों, सोलर प्लेटों आदि पर बर्फ की हल्की परत जमी हुई दिखाई देती है और आसमान साफ रहने से अच्छी धूप निकली जिसके बाद लोग धूप ला आनंद लेते है इधर शाम ढलते ही ठंडी हवाओं के जोर पकडऩे पर लोगों ने भारी भरकम ऊनी लबादों का सहारा लिया। बार- बार मौसम में आ रहे अप्रत्याशित परिवर्तन से मौसमी बीमारियों का भी खासा प्रभाव देखने को मिल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *